Header Ads

बकर अनलिमिटेड

 


क्या आप परेशान हैं... तनाव में हैं, दुखी हैं, निराश हैं, पंकज उदास हैं और बड़ी शिद्दत से किसी ऐसे मौके की तलाश में हैं जहां आप अपने सारे गम, सारा तनाव, सारी उदासी दो पल के लिये पीछे छोड़ कर खुश हो सकें, बेफिक्र हो कर हंस सकें और अपने में एक नई ऊर्जा महसूस कर सकें... तो फिर बकर अनलिमिटेड बिलकुल सही च्वाईस है आपके लिये।

थोड़ा सोचिये... क्या कभी आप खुल कर इस तरह हंसे हैं कि आपको खतरा पैदा हो गया हो कि कहीं हंसते-हंसते आपकी जान न निकल जाये... अगर नहीं तो फिर इस नये तजुर्बे के लिये यह किताब आजमा सकते हैं। इस यकीन के साथ कि यह आपको ऐसा मनोरंजन प्रदान करेगी जो आप बरसों बरस याद रखना चाहेंगे।

इस किताब में कोई एक कांसेप्ट नहीं है, कोई एक कहानी नहीं है, बल्कि अलग-अलग हर तरह के मौकों पर दो या दो से ज्यादा लोगों के बीच के आपसी संवाद हैं जो आपको गुदगुदाते हैं, हंसाते हैं और साथ ही सोचने पर भी मजबूर करते हैं। हां संवाद के लिये बनने वाले इन मौकों के लिये कुछ धर्म से जुड़े अवसर या राजनीति से जुड़े प्रसंग भी प्रयोग किये गये हैं लेकिन उद्देश्य किसी भी तरह से किसी का दिल दुखाना या किसी की भावना आहत करना नहीं है बल्कि शुद्ध रूप से हास्य-व्यंग्य से भरपूर मनोरंजन उपलब्ध कराने की कोशिश की गयी है।

असीम निश्चित ही आधुनिक युग के परसाई हैं, उनकी बात कहने की कला अनूठी है और वे सीधे सहज लम्हों को भी अपने धारदार संवादों की मदद से एक अलग मूड में कनवर्ट कर देते हैं। वे भले पेशे से इंजीनियर हैं लेकिन हास्य के क्षेत्र में उनकी कला का कोई सानी नहीं है। आप कोशिश कर के भी उन्हें नापसंद नहीं कर पायेंगे। एक बार आप जब उन्हें पढ़ना शुरू करते हैं तो खुद को रोकना मुश्किल हो जाता है। हां एक एडवाइजरी जरूर है कि पूरी किताब एक बार में न पढ़ें... हंसते-हंसते हार्ट फेल भी हो सकता है।

बकर अनलिमिटेड पीडीएफ यानि ई-बुक फार्मेट में हर जगह उपलब्ध है.. आप इसे ग्रैडिअस, अमेजाॅन किंडल, इंस्टामोजो, गूगल प्ले बुक और स्मैशवर्ड्स (जिसके जरिये और तमाम चैनल्स पर एक साथ उपलब्ध हो जाती है) में से जहां से भी चाहें, वहां से डाऊनलोड कर सकते हैं और वह भी लगभग मुफ्त। बस डाऊनलोड कीजिये और जिंदगी के कुछ बेहतरीन पलों को एंजाय कीजिये।

किताब तक पहुँचने के लिये सभी लिंक ये रहे....

ग्रेडिअस:

अमेजॉन किन्डल:

गूगल प्ले स्टोर:

स्मैश्वर्ड्स:

इन्स्टामोजो:

No comments